Dumas Beach in Gujarat: Information of the Mysterious Dumas Beach in Hindi

Dumas Beach in Gujarat: Information of the Mysterious Dumas Beach in Hindi

नमस्कार दोस्तों आपका हमारी वेबसाइट पर स्वागत है। दोस्तों आज हम ऎक आतंकि भुतो वालि कहानी गुजरात के डुमस बिच से जुडि जानकारि बताने वाले है। 

दोस्त जब भारत में सबसे प्रेतवाधित स्थानों की बात आती है तो आमतौर पर भानगढ और कुलधारा और दिल्ली में अग्रसेन की बावली सूची में प्रमुख स्थानों को कवर करते हैं। हालांकि डुमस बिच की कहानी भी उतनी ही यथार्थवादी और भुतिया है।अगर दोस्तों अगर आप गुजरात के डुमस बिच के बारे में अभी तक अनजान है तो आइए इस आर्टिकल से डुमस बिच से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में जानते हैं।


Dumas Beach(गुजरात का डुमास बीच)

डुमास बीच अरब सागर के किनारे एक ग्रामीण समुद्र तट है। जो भारतीय राज्य गुजरात के सूरत शहर के दक्षिण-पश्चिम में 21 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह दक्षिण गुजरात का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थान है। डुमास बीच भारत में टोप 35 प्रेतवाधित स्थान में होने के लिए प्रसिद्ध है। इस बीच का समुद्र तट अपनी काली रेत के लिए जाना जाता है। और इसे प्रेतवाधित माना जाता है। क्योंकि लोक कथाओं के अनुसार इसे कभि हिन्दुओ के दाह स्थल के रुप में इस्तेमाल किया जाता था।

डुमास बीच और समुद्र तट दिन के समय भगवान के घर जैसा दिखता है। सूरज ढलने के बाद यहां शैतान का स्वर्ग बन जाता है। सूरत के प्रीमियम पर्यटक आकर्षणों में से एक इस समुद्र तट पर और दिन यात्रियों को पर्यटकों की भीड़ आती है। लेकिन जैसे ही अंधेरा होने लगता है लोग बेहतर भलाइ के लिए जगह छोड़ देते हैं। और जिन लोगों ने रात भर समुद्र तट को चुनौती देने की कोशिश किया है वो कभी वापस नहीं आई या साझा करने के लिए उनके पास सबसे खराब अनुभव थे।

Dumas Beach’s black sand(डुमास बीच कि कालि रेति)

जबकि दक्षिण गुजरात मे यह प्रतीत होता है कि रहस्यमय समुद्र तट अपनी अब अपसामान्य गतिविधियों के लिए कुख्यात है। एक और चीज के लिए प्रसिद्ध है इसकी काली रेत।इस बीच की सबसे आश्चर्यजनक बात यह है कि यहां की रेत का रंग काला है। इस बीच का इतिहास किसी को नहीं पता लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि सदियों पहले यहां पर आत्माओं ने अपना बसेरा कर लिया और इसी के चलते यहां कि रेत काली हो गई।लोक कथाओं के अनुसार समुद्र तट का उपयोग हिंदुओं के लिए एक कब्रिस्तान के रूप में किया जाता था। और माना जाता है कि यहां दफन किए लोगों के अवशेषों के कारण यहा पर कालि रेत निकलि है।लोगों का मानना है कि यहां पर लाशें भी जलाई जाती थी। और लोगों का मानना है कि जिन लोगों का मोक्ष प्राप्त नहीं होता है या जिनकी अकाल मृत्यु हो जाती है उनकी रुह इस बीच पर सब बसेरा कर लेती है।कुछ लोगों का मानना है की बुरी आत्माओं की दिवंगत आत्माऎ आधी रात को समुद्र तट पर घूमती है जिसके कारण काली रेत का निर्माण हुआ और यह ऎक प्रेतवाधित स्थान बन गया।


पर्यटक और कपल्स का कहना है कि दिन में खूबसूरत दिखाई देने वाला यह बीच शाम होने के बाद से ही डरावना नजर आने लगता है और बीच पर रोने और सिसकने की भी आवाज सुनाई देती है।कई लोगों के अनुभव के अनुसार इस बीच में रात के समय किसी चुनौती से कम नहीं है। हालांकि कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इस बात का दावा भी करते हैं कि इस बीच से जुड़ी सारी बातें काल्पनिक है और वहां रहते हुए भी उन्होंने ऐसी कोई आवाज नहीं सुनी डरा देने वाली है सच्चाई कुछ भी है लेकिन इसका रहश्य अभी तक सुलझा पाना मुश्किल है।

Dumas Beach के आसपास का रहस्य

डुमास बीच अरब सागर के किनारे एक ग्रामीण समुद्र तट है। जो भारतीय राज्य गुजरात के सूरत शहर के दक्षिण-पश्चिम में 21 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह दक्षिण गुजरात का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थान है। डुमास बीच भारत में टोप 35 प्रेतवाधित स्थान में होने के लिए प्रसिद्ध है। यह बीच दो चिजो के लिये प्रसिद्ध है एक है अपनि काली रेत और दुसरा है यह स्थान भुतिया यानि कि प्रेतवाधित होने के लिये जाना जाता है।यहां पर ऐसा कहा जाता है कि डुमास बीच को एक बार हिंदू कब्रिस्तान के रूप में इस्तेमाल किया गया था। और इसलिए कई प्रेतवाधित आत्माओं ने इस क्षेत्र को कभि नहि छोडा।लोक कथाओं के अनुसार समुद्र तट का उपयोग हिंदुओं के लिए एक कब्रिस्तान के रूप में किया जाता था। और माना जाता है कि यहां दफन किए लोगों के अवशेषों के कारण यहा पर कालि रेत निकलि है।लोगों का मानना है कि यहां पर लाशें भी जलाई जाती थी। और लोगों का मानना है कि जिन लोगों का मोक्ष प्राप्त नहीं होता है या जिनकी अकाल मृत्यु हो जाती है उनकी रुह इस बीच पर सब बसेरा कर लेती है।कुछ लोगों का मानना है की बुरी आत्माओं की दिवंगत आत्माऎ आधी रात को समुद्र तट पर घूमती है जिसके कारण काली रेत का निर्माण हुआ।लोक कथाएं बताती है कि काली रेत का अस्तित्व मृतकों को जलाने से बनी राख की मात्रा के कारण है जो समुद्र तट की सफेद रेत के साथ मिल गई और छाया में काली हो गई।


इस बात से कोई इनकार नहीं की समुद्र तट पर एक भयानक अनुभव है। आसपास का वातावरण सुंदर है लेकिन भुतिया रूप से निराशाजनक है। और आप उस जगह को घेरने वाली नकारात्मक से बच नहीं सकते। चांद देखने के बाद इलाके में कोई एक्टिविटीज की सूचना मिली है। खबरों की मानें तो सूरत भूतिया समुद्र तट डुमास बीच में कई पर्यटक और स्थानीय लोगों लापता हो गये है। साथ ही एक व्यक्ति समुद्र तट पर मृत पाया गया जिसकी जिभ बाहर निकली हुई थी। और कोई भी ऐसा नहीं है जो इन सभी घटना के पीछे का कारण बता सकता है। लोग यह भी दावा करते हैं कि समुद्र तट से आने वाले अजीब आवाज सुनी जैसे कि लोग हंस हे और कोई रो रहा है तब भी जब वहां की आत्मा मौजूद नहीं थी। इतना ही नहीं स्थानीय लोगों का यह भी कहना है कि उन्होंने असंख्य रहस्यमई गतिविधियों के साथ जुलते हुए आभूषण देखे है जिसे समझाया नहीं जा सकता।

Dumas Beach पर अपसामान्य गतिविधि

डुमास बीच पर कई असामान्य गतिविधियां होती रहती है। डुमास बीच में लोग यह भी दावा करते हैं कि समुद्र तट से आने वाले अजीब आवाज सुनी जैसे कि लोग हंस हे और कोई रो रहा है तब भी जब वहां की आत्मा मौजूद नहीं थी। इतना ही नहीं स्थानीय लोगों का यह भी कहना है कि उन्होंने असंख्य रहस्यमई गतिविधियों के साथ जुलते हुए आभूषण देखे है जिसे समझाया नहीं जा सकता।और यहां पर लोगों का कहना है कि रात में समुद्र तट पर आत्माएं चलती है। आज तक समुद्र तट पर अपसामान्य गतिविधियां की कई रिपोर्ट आई है। जहां आगंतुकों ने अजीब शोर और आवाज और तेज हसि सुनने का दावा किया है।वहां पर कई लोगों ने सफ़ेद प्रेत और हिलते हुए आभुषण देखे है।और अन्य अकथिन गतिविधियां भी देखी गई है। स्थानीय लोगों का दावा है कि आधी रात को समुद्र तट पर टहलते हुए कई पर्यटक लापता हो जाते हैं। तो आइए दोस्तो देखते हैं अन्य गतिविधियां के बारे में जानते हैं जैसे कि........

  • कुत्तों की अजीबोगरीब आवाज:- दोस्तों वहां के बीच पर कुत्तों अंधेरे के बाद समुद्र तट के आसपास अजीब तरह से व्यवहार करते नजर आते हैं जैसे कि वह मुखर चेतावनि के साथ उनकी परेशानी का चित्रण करते हैं जैसे गरजना और भोकना।हालांकि कुछ लोग यहां पर भूत प्रेत होने की बात को सिरे से नकारते हैं। उनका कहना है कि रात में यहां कुत्ते मौजूद होते हैं उनकी आवाज और दौड़ भाग से लोग डर जाते हैं। दरअसल यहां की रेत कालि है जिसके चलते डरावना माहौल नजर आता है। वही स्थानीय लोगों का यह भी कहना है कि बीच पर आते ही कुत्ते रोने लगती है और इधर-उधर भागते हुए नजर आते हैं।चाहे तथ्य हो या कल्पना यहां कुत्ते अदृश्य उपस्थित को महसूस करते हैं। और भौकना शुरू कर देते हैं जिससे समुद्र तट पर लोगों को आगे चलने से रोकने के लिए सचेत किया जाता है।
  • आति है डरावनि आवाजे:- वहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि शाम को अंधेरा होने के बाद बिच पर  चिखने चिल्लाने की आवाज आने लगती है।चिख-पुकार की आवाज काफी दूर से भी सुनी जा सकती है। स्थानीय लोगों की मानें तो इस बीच पर रात में जो भी गया है वह वापस नहीं लौटा। यह बिच प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर है। लेकिन इस बीच को लेकर स्थानीय लोगों की बातें डरा देने वाली है। यहां की खूबसूरती आमतौर पर पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है लेकिन यहां के लोगों को भी वहां जाने से रोक देती है। लोग यह भी दावा करते हैं कि उन्हे अजिब आवाजे सुनि जैसे कि लोग हस रहे है और कोइ रो रह है।



भारत मे सबसे प्रेतवाधित स्थानो मे से ऎक है यह Dumas Beach

डुमास बीच को भारत में सबसे प्रेत वाले स्थानों में से एक बताया गया है। डुमास बीच भारत में टोप 35 प्रेतवाधित स्थान में होने के लिए प्रसिद्ध है। यह बीच दो चिजो के लिये प्रसिद्ध है एक है अपनि काली रेत और दुसरा है यह स्थान भुतिया यानि कि प्रेतवाधित होने के लिये जाना जाता है।ऐसी ही एक घटना की सूचना ऎक ग्रुप ने बताएं जिन्होंने समुद्र तट पर एज दिन बिताया था। हालांकि उन्होंने कोई असामान्य गतिविधि नहीं देखी लेकिन उनकी तस्वीरों ने एक अलग कहानी बयां की तस्वीरों में आत्मा के आभुषण थे। ऐसा कहा जाता है कि रात के समय किसी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा या भयानक खिंचाव पाया जाता है। हालांकि कुछ ऐसे भि है जो इसे महज मिठक या अंधविश्वास मानते है। 

Dumas Beach कैसे पहुंचे

डुमास बीच तक पहुंचना काफी आसान है। सुरत से मुंबई 283 किलोमीटर है सड़क मार्ग से इसमें 5 घंटे होते हैं। और अहमदाबाद से सुरत 263 किलोमीटर है इसमें 4 घंटे लग सकते हैं। वडोदरा से NH48 के माध्यम से लगभग 153 किलोमीटर है| आप रेल मार्ग या हवाई मार्ग से यात्रा कर सकते हैं| और सूरत शहर से डुमास बीच के लिए टैक्सी पकड़ सकते हैं जो सिर्फ 18 किलोमीटर दूर है।समुद्र तट सूरत शहर से लगभग 18 किमी दूरी पर स्थित है। और यहां पहुंचने में सिर्फ आधा घंटा लगता है।डुमास बीच के लिए शहर से कई स्थानीय परिवहन उपलब्ध है।

Surat Railway Station, Station Road, Suryapur Gate, Varachha, Surat, Gujarat, India.

Surat Airport, Surat – Dumas Road, near Magdalla, Surat, Gujarat, India.

पहले ही समुद्र तट को अब सामान्य गतिविधियां में डूबा हुआ कहा जाता है। इसने पर्यटक को आने से नहीं रोका है। दोस्तों इस जगह जाने लायक है। भारत में इस रहस्यमई समुद्र का पता लगाने की परवाह करते हैं या हिम्मत करते है।अगर दोस्तो आप डुमास बीच जाना चाहते है तो दोस्तो मे यहा आपको यह डुमास बीच का पता दुंगा आप निचे दि गई लिंक पर क्लिक करके वहा जासकते हो।


 

दोस्तो ऎसे हि अन्य ट्रावेल के बारे मे जाने के लिये निचे दि गई लिंक पर क्लिक करके आप वहा से उसके बारे मे जानकारि प्राप्त कर सकते है।
दोस्तो आज हमने बताया कि डुमास बीच कहा है। और उनसे जुडि हर माहिति को आपको साझा करने कि कोशिश कि है। यदि आपको इस पोस्ट मे कमि दिखति है तो आप हमे कोमेन्ट करके बता सकते हो।
अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे ,,,''धन्यवाद''

Comments